Uncategorized

क्रिप्टोकरेंसी क्या है ? | What is Cryptocurrency in Hindi

क्रिप्टोकरेंसी क्या है और उनके प्रकार

What is Cryptocurrency : आज की डेट में क्रिप्टोकरंसी एक ऐसा नाम बन चुका है। जिसे लेकर लोगों मैं काफी रूचि है। खासकर देश के नौजवान इसमें बहुत ही रुचि दिखा रहे हैं चलिए देखते हैं कि क्रिप्टो करेंसी क्या है। Crypto currency को digital money भी कहा जाता है क्यूंकि ये केवल Online ही उपलब्ध है और इसे हम physically लेन देन नहीं कर सकते.

दुसरे प्रकार की currencies जैसे की भारत में रुपया, USA में डालर इत्यादि को सरकारें लागु करती हैं ठीक उसी प्रकार इन currency को भी पुरे दुनिया में इस्तमाल किया जा रहा है। क्रिप्टोकरेंसी के ऊपर गवर्नमेंट का कोई भी कंट्रोल नहीं है। क्यूंकि ये Decentrallized Currency होती हैं। जिसके चलते इसके मूल्य को regulate नहीं किया जा सकता.

क्रिप्टो करेंसी क्या है, What is Cryptocurrency in Hindi

Cryptocurrency को digital currency भी कहते हैं।. यह एक प्रकार का Digital Asset होता है जिसका इस्तमाल वस्तुओं की खरीदारी या Services के लिए किया जाता है. इन currencies में cryptography का इस्तमाल किया जाता है.  इसका इस्तमाल हम Internet के माध्यम से regular currencies के स्थान में Services को खरीदने के लिए कर सकते हैं. इस व्यवस्था में सरकार का कोई भी हाथ नहीं होता है। इसलिए कुछ जानकारो का मानना है की Cryptocurrency का इस्तमाल गलत तरीके से भी किया जा सकता है.

आज की डेट में लगभग 1000 से भी ज्यादा Cryptocurrency पूरी दुनिया में मौजूद  हैं। लेकिन उनमें से कुछ ही ज्यादा महत्वपूर्ण है। Cryptocurrency को बनाने के लिए Cryptography का इस्तमाल किया जाता है।

क्रिप्टोकरेंसी में सबसे ज्यादा प्रसिद्ध बिटकॉइन है। इसे सबसे पहले बनाया गया था और इसे सबसे ज्यादा भी इस्तमाल में लाया जाता है. शुरुआत में Bitcoin को लेकर काफी controveries हुई थीं लेकिन आज की डेट में Bitcoin, Cryptocurrencies में सबसे ऊपर चल रहा है। 

क्रिप्टोक के फायदे, what is benefit of Cryptocurrency

  • Cryptocurrency में गड़बड़ी होने के chances बहुत ही कम हैं.
  • Cryptocurrency दूसरे डिजिटल पेमेंट की अपेक्षा ज्यादा सिक्योर मानी जाती है।
  • इसमें transaction fees दूसरे पेमेंट ऑप्शन की अपेक्षा बहुत ही कम है।
  • इसमें account ज्यादा secure होते हैं क्यूंकि इसमें अलग अलग प्रकार के Cryptography Algorithm का इस्तमाल किया जाता है.

Cryptocurrency के नुकसान

Cryptocurrency का सबसे बड़ा नुकसान यह है कि इसमें आप एक बार ट्रांजैक्शन करने के पश्चात उसे रिवर्स नहीं कर सकते और ना ही आप किसी के पास शिकायत कर सकते हैं क्योंकि यह किसी भी गवर्नमेंट के अधीन काम नहीं करता या किसी संस्था के अधीन काम नहीं करता जैसे अगर हमारी बैंक के पैसों में किसी प्रकार की कोई गड़बड़ी देखते हैं तो बैंक को हम शिकायत दर्ज करा सकते हैं जिसे आरबीआई हैंडल करती है परंतु क्रिप्टोकरेंसी इन सब से वंचित है।

इसमें एक बार wallet id खो जाने के बाद दोबारा हासिल नहीं किया क्यूंकि इसे दुबारा प्राप्त करना संभव नहीं है. इस स्थिति में आपकी चाहे जितने भी पैसे wallet में मौजूद हो आप उसे हमेशा के लिए खो देंगे।

Cryptocurrencies में invest कैसे करें?

Cryptocurrencies में invest कैसे करें
Cryptocurrencies में invest कैसे करें

Cryptocurrencies में invest करने के लिए आपको सबसे पहले सही प्लाट्फ़ोर्म को सेलेक्ट करना होगा। क्यूँकि सही प्लेटफार्म ना होने के कारण आपको ज्यादा पैसे देने पड़ सकते हैं। अगर हम आज की बात करें तो क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग करने के लिए भारत में सबसे मशहूर प्लेटफार्म  “Wazirx“ है।

इसमें इन्वेस्टमेंट करना या ट्रेडिंग करना बहुत ही आसान है। और इसके फ़ाउंडर भी एक भारतीय ही हैं। अगर आप चाहें तो इसमें अपना पैसा इन्वेस्ट कर सकते हैं।

Cryptocurrencies कितने प्रकार के होते है।

वैसे तो क्रिप्टो करेंसी कई प्रकार के होते हैं परंतु कुछ ही है जो अच्छा परफॉर्म करते हैं तो आइए एक एक करके इनके बारे में जानते हैं।

Bitcoin (BTC)

अगर क्रिप्टोकरंसी की बात करें तो सबसे पहला नाम आता है बिटकॉइन का यह नाम इतना प्रचलित है कि कई लोग तो यही समझते हैं कि बिटकॉइन को ही क्रिप्टोकरेंसी कहते हैं परंतु ऐसा नहीं है बल्कि क्रिप्टोकरेंसी का एक हिस्सा है। Bitcoin दुनिया से सबसे पहला Cryptocurrency है. जिसे Satoshi Nakamoto ने 2009 में बनाया था.

Ethereum (ETH)

Bitcoin की तरह ही Ethereum भी open-source, decentralized blockchain-based computing platform है. जिसके Founder  Vitalik Buterin. है  इसके Cryptocurrency token को ‘Ether’ भी कहा जाता है.
एक Hard Fork के होने के कारण  Ethereum दो हिस्सों में विभाजित हो गया है जिसका नाम Etherem (ETH) और Etheriem Classic (ETC).

Litecoin (LTC)

Litecoin भी de-centralized cryptocurrency है यह एक open source software जो की release हुआ है under the MIT/X11 license के अंतर्गत October, 2011 में Charles Lee के द्वारा जो की पहले एक Google Employee रह चुके हैं.

Dogecoin (Doge)

Dogecoin एक रोचक तरीके से बनाई गई थी इसे Bitcoin को मजाक करने के लिए कुत्ते से उसकी तुलना की गयी जिसने आगे चलकर एक Cryptocurrency का रूप ले लिया. इसके Founder का नाम है Billy Markus. है। 

आज की डेट में  Dogecoin की Market Value है $197 million से भी ज्यादा है।. इसमें Mining दूसरों के मुकाबले बहुत जल्दी होती है.

Dash (DASH)

Dash का अर्थ होता है डिजिटल और cash इसके पूर्व इसका  नाम था XCoin और Darkcoin, ये एक open source, peer-to-peer cryptocurrency है Bitcoin के जैसे ही.

Peercoin (PPC)

Peercoin  पूरी तरह से Bitcoin protocol पर ही based है और जिसमें की बहुत सी Source code दोनों में मिलती जूलती हैं. इसमें transaction को verify करने के लिए केवल Proof of work पर ही मिर्भर नहीं किया जाता बल्कि इसके साथ Proof of stake system को भी नज़र में रखा जाता है.

Ripple (XRP)

Ripple 2012 में स्थापित  हुआ था और ये distributed open source protocol के ऊपर based है, Ripple एक real-time gross settlement system (RTGS) है जो की अपनी खुद की Cryptocurrency चलाता है जिसे की Ripples (XRP) भी कहा जाता है.

Monero (XMR)

ये असल में Bytecoin के fork से पैदा हुआ है सन 2014 में और उसके बाद से ही ये प्रसिधी लाभ की है.

Cryptocurrency FAQ

क्रिप्टोकरेंसी क्या है?

अगर आसान भाषा में समझे क्रिप्टो करेंसी वह मुद्रा है जिससे हम दुनिया की हर एक चीज खरीद सकते हैं परंतु इस मुद्रा को छू नहीं सकते

क्या भारत में क्रिप्टोकरंसी लीगल है?

फिलहाल तो भारत में क्रिप्टो करेंसी लीगल है परंतु इस पर जल्द ही बैन लगाया जा सकता है

भारत की क्रिप्टो करेंसी क्या है?

अभी तक भारत की एक भी क्रिप्टो करेंसी नहीं बनाई गई है

क्रिप्टोकरंसी कैसे खरीदें?

क्रिप्टो करेंसी को खरीदने के लिए आप कोई भी एक ऐप डाउनलोड कर सकते हैं आप waxir x,coin dcx,kuber  जैसी और भी बहुत सारी एप्लीकेशन मौजूद है जिन्हें आप डाउनलोड करके  इनके जरिए क्रिप्टोकरेंसी खरीद सकते हैं

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज क्या है?

क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज उसको कहा जाता है जिसके जरिए इसे बेचा और खरीदा जाए जैसे एप्लीकेशन इसकी एक्सचेंज है।

ब्लाकचैन टेक्नोलॉजी क्या होता है?

ब्लाकचैन टेक्नोलॉजी उसे कहते हैं जिसके जरिए आपकी सूचनाएं सुरक्षित होती हैं या आप का लेनदेन सुरक्षित रहता है

क्रिप्टो करेंसी से पैसे कैसे कमाए?

जब क्रिप्टोकरेंसी का रेट कम हो तो आप इसे खरीद लें और इसका रेट बढ़ जाए तो इसे बेचकर पैसे कमा सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button