Amazing FactGyan

ट्विन टावर बनाने में कितने रुपए लगे थे | ट्विन टावर की मार्केट वैल्यू कितनी है

उत्तर प्रदेश में स्थित नोएडा सेक्टर 93ए (Noida Sector 93A) में बना सुपरटेक का ट्विन टावर 28 अगस्त दोपहर 2:00 बजे को गिरा दिया जाएगा. आपको बता दें कि इस ट्विन टावर का एक टावर 32 मंजिला तथा दूसरा टावर 31 मंजिला था जो कि एक बटन दबाते ही मलबे का ढेर बन जाएगा. यह टावर इतना खूबसूरत और इतना बड़ा था कि इसकी लंबाई कुतुब मीनार से भी ऊंची थी. यह टावर नोएडा सेक्टर 93A की पहचान बन चुका था.

यह बात जानकर शायद आपको हैरानी होगी कि इसे महज गिराने में ₹17 करोड़ खर्च हो रहे हैं. तो आप इस हिसाब से इसकी कीमत का अंदाजा लगा सकते हैं
ट्विन टावर को गिराने के लिए 3700 हजार किलो बारूद  ब्लास्ट किया जाएगा. इस टावर को गिराने के बाद इसके मलबे में  चेक किया जाएगा कि कोई जिंदा बारूद तो नहीं है जिससे कि कोई हादसा ना हो जाए चलिए हम आपको बताते हैं कि इस टावर को बनाने में कितने रुपए खर्च हुए थे और आज की डेट में इसका प्राइस कितना होगा

ट्विन टावर को बनाने में कितने पैसे लगे थे

टीवी टुडे नेटवर्क की एक रिपोर्ट के मुताबिक  ट्विन टावर को बनाने में 200 से 300 करोड़ रुपए खर्च किए गए थे जिस वक्त कोर्ट में इस टावर को लेकर फैसला सुनाया गया था उस वक्त उस टावर की कीमत लगभग 700 से 800 करोड़ रुपए थी. रियल स्टेट के जानकारों का मानना है कि यह टावर जिस एरिया में स्थित है वहां पर जमीन की कीमत ₹10000 प्रति वर्ग फीट है अगर इस टावर को लेकर विवाद ना होता तो टावर और जमीन को लेकर इसकी कुल मार्केट वैल्यू 1000 करोड़ से भी अधिक हो सकती थी.

कई लोगों का ऐसा कहना है कि ट्विन टावर को गिराने की जगह उसके स्थान पर अस्पताल बना दिया जाता तो अच्छा होता परंतु ऐसा संभव नहीं है यह एक प्रकार का सबक है देश के सभी बिल्डरों को सुप्रीम कोर्ट का ताकि आगे से इस प्रकार से नियमों की धज्जियां उड़ा कर किसी भी तरह की कोई बिल्डिंग ना बनाई जाए

FAQ

Q: ट्विन टावर कितने पैसों में बना था?

A: एक रिपोर्ट के मुताबिक ट्विन टावर को बनाने में 200 से 300 करोड़ रुपए की लागत आई थी

Q : आज की डेट में ट्विन टावर की मार्केट वैल्यू कितनी है?

A: आज की डेट में ट्विन टावर की मार्केट वैल्यू 1000 करोड़ से भी अधिक है

Q: ट्विन टावर को क्यों गिराया जा रहा है?

A : सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर ट्विन टावर को गिराया जा रहा है.

Q: ट्विन टावर को गिराने का क्या कारण है?

A: अधिकारियों के साथ मिलकर नियम कानून की धज्जियां उड़ाने के कारण ट्विन टावर को गिराने का आदेश सुप्रीम कोर्ट ने दिया है.

Q: ट्विन टावर की हाइट कितनी है

A : ट्विन टावर की हाइट लगभग 100 मीटर है

Q: ट्विन टावर को गिराने में कितने पैसे खर्च हुए

A: ट्विन टावर को गिराने में लगभग ₹17 करोड़ खर्च हुए हैं

Q : ट्विन टावर का मालिक कौन है?

A : ट्विन टावर को सुपरटेक लिमिटेड नामक कंपनी ने बनाया था जिसके संस्थापक आर के अरोड़ा हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button